खास रिपोर्ट

भदोही। सूबे में सब कुछ बदल रहा है लेकिन नहीं बदली है तो ऐसे कुछ लोगों की वह मानसिकता जो पूर्ववर्ती शासनकाल में दबंगई के रूप में जानी जाती थी। जिसकी बदौलत सूबे की बदल गयी सत्ता। बावजूद इसके यह वह रस्सी बन चुकी है कि जलने के बाद भी ऐठन खत्म होने का नाम नहीं ले रही है।

जी हां, हम बात कर रहे हैं भदोही ब्लाक प्रमुख पद पर अविश्वास प्रस्ताव की। तारीख मुकर्रर होने के बाद बीडीसी सदस्यों को उठाने का शुरू खेल में अब तक दो सदस्यों को अगवा करने का आरोप ब्लाक प्रमुख विकास यादव पर लग चुका है। FIR भी दर्ज हो चुकी है लेकिन दुस्साहस तो देखिए यह सिलसिला जारी है।

यह है पूरा मामला

भदोही ब्लाक में साल के आखिरी दिन कड़कड़ाती ठंड में भदोही कोतवाली क्षेत्र के एक दलित बीडीसी समेत दो को अगवा किए जाने का मामला सामने आ चुका है। एक मामले में अगवा दलित की पत्नी ने भदोही ब्लाक प्रमुख विकास यादव समेत अन्य कई लोगों के खिलाफ तहरीर देकर मुकदमा दर्ज करा दिया है तो दूसरे मामले में भी पुलिस हरकत में है।

15 को होना है फैसला

भदोही ब्लाक प्रमुख विकास यादव के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की तिथि 15 जनवरी तय होने के बाद बीडीसी सदस्यों को एकजुट करने की होड़ शुरू है। इस बीच सपा के ब्लाक प्रमुख विकास यादव पर दो सदस्यों को उठाने का आरोप लगा है। मामला दर्ज हो चुका है और पुलिस की सक्रियता बढ़ गई है।

हर गतिविधियों पर है इनकी पैनी नजर

भदोही के जिलाधिकारी विशाख जी और एसपी सचीन्द्र पटेल हर गतिविधियों पर पैनी नजर रखते हैं। भदोही ब्लाक प्रमुख चुनाव को लेकर भी प्रत्येक घटनाक्रम पर दोनों की नजर है। ऐसे में यह तय है कि किसी की भी मनमानी नही चलने वाली है।