खास रिपोर्ट

भदोही।  भदोही ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की तिथि जैसे- जैसे नजदीक आ रही है वैसे- वैसे सियासत गरमा रही है। क्षेत्र पंचायत सदस्यों को अपने खेमे में रखने के लिए पक्ष और विपक्ष कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। तीन दिन पूर्व अपहृत क्षेत्र पंचायत सदस्य सहदेव चौहान नाटकीय ढंग से औराई थाने पहुंचा गया। उसके साथ सपा के जिलाध्यक्ष आरिफ सिद्दीकी, पूर्व विधायक जाहिद बेग, पूर्व जिलाध्यक्ष प्रदीप यादव सहित अन्य दिग्गज नेता शामिल रहे। हालांकि बीडीसी को कस्टडी में ले लिया गया है। उसे शनिवार को कोर्ट के सामने पेश कर कलमबंद बयान दर्ज कराया जाएगा। इसके पश्चात उसे परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

ब्लाक प्रमुख भदोही के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव 15 जनवरी को नियत की गई है। इसको लेकर जिले की सियासत में गहमा- गहमी की स्थिति बनी हुई है। गत दिनों दुलमदासपुर के क्षेत्र पंचायत सदस्य शेषमणि की पत्नी ने कोतवाली में अपहरण की शिकायत की थी। उसकी शिकायत पर ब्लाक प्रमुख विद्या विकास यादव सहित चार के खिलाफ अपहरण और दलित उत्पीड़न का मामला दर्ज किया था। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद पूर्व विधायक जाहिद बेग के साथ नाटकीय ढंग से अपहृत शेषमणि एसपी के यहां पेश हुआ था। इसी दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष हौसिला पाठक और प्रशांत सिंह चिट्टू के साथ पहुंचे दो अन्य क्षेत्र पंचायत सदस्यों को भी अपहरण करने की शिकायत उनके परिजनों ने की। इसी क्रम में आशापुर बिजला निवासी शांति देवी के तहरीर पर ब्लाक प्रमुख भदोही सहित अन्य पर औराई थाने में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया गया। चौबीस घंटे भी नहीं बीते कि एक बार फिर सपाजनों के साथ अपहृत बीडीसी नाटकीय ढंग से औराई थाने पहुंच गया। प्रभारी निरीक्षक शेषधर पांडेय ने बताया कि अपहृत बीडीसी को कस्टडी में ले लिया गया है। उसे शनिवार को कोर्ट में पेशकर कलमबंद बयान दर्ज किया जाएगा। इसके पश्चात उसे परिजनों को सौंप दिया जाएगा।