कल्पवास मकर माघ मेला क्षेत्र

सेमराधनाथ (भदोही) l कड़ाके की ठंड में काशी और प्रयाग के मध्य गंगा की रेती में तप करने आने वाले कलेपवासियों की सुधि लेने रविवार को डीएम विशाख जी और एसपी सचीन्द्र पटेल पहुंचे। दोनों अफसरों ने यहां सुविधाओं से लेकर सुरक्षा तक के बिन्दू का जायजा लिया और फिर यह कदम उठाया।

जिलाधिकारी विशाख जी ने सेमराधनाथ धाम में चल रहे कल्पवास माघ मेले का स्थलीय निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद डीएम ने अधिकारियो के साथ बैठक के दौरान मेले में लगाये गये सम्बन्धित विभागो के अधिकारियो को अपने-अपने विभागों के व्यवस्था को नियमित रूप से चुस्त दुरूस्त करने का निर्देश दिया।  साथ ही एसडीएम और वन विभाग के अधिकारियो को निर्देश दिया कि शीतलहरी ठण्ड के प्रकोप को देखते हुए आलाव के व्यवस्था अनवरत जारी रखा जाए। विद्युत अभियंता को भी निर्देश दिया है कि कल्पवास मेले की संवेदनशीलता को देखते हुए विद्युत व्यवस्था अनवरत आपूर्ति बनी रहे।

निरीक्षण

इसी प्रकार स्थानीय व बाहर से आने जाने वाले लोगो के आवागमन के लिए सम्पर्क मार्ग ठीक राखने के लिए लोक निर्माण अभियंता को दिया है। उन्होने डीपीआरओ को निर्देश दिया है कि पूरा मेला अवधि तक कल्पवासियों/श्रद्धालुओं स्नान करने वालो के लिए वैकल्पित व्यवस्था के तहत अस्थायी  शौचालयो का प्राथमिकता के आधार पर व्यवस्था किया जाय।

जिलाधिकारी ने कल्पवास मेला अवधि तक कल्पवास माघ मेला अवधि तक सुरक्षा की दृष्टिकोण से एसडीएम और पुलिस क्षेत्राधिकारी को निर्देश दिया है कि सर्तकता के मद्दे नजर पुलिस फोर्स भी उपलब्ध रहनी चाहिए। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया है कि चिकित्सको की एक सचल दस्ता टीम पूरे माघ मेला अवधि तक कैम्प करके किसी भी कल्पवासी, श्रद्धालुओं, स्नानार्थियों स्वास्थ्य सम्बन्धित परेशानी आने पर ईलाज कराने में अहम भूमिका निभाएं

जिलाधिकारी ने जल निगम के अभियंता को निर्देश दिया है कि जो हैण्डपम्प लगाये गये है, उनकी देख रेख बराबर करते रहे, यदि खराब हो तो तत्काल ठीक करा दिये जाय। जिलाधिकारी ने पूरे मेला परिसर व गंगा के किनारे घाटो पर कल्पवासी व स्नानार्थियों के घाटो को देखकर उपस्थित श्रद्धालुओं से रूबरू होते हुए कहा कि किसी भी प्रकार की कठिनाई नही होने दी जायेगी। यदि कोई समस्या हो तो उन्हे तत्काल अवगत कराये।

डीएम विशाख जी और एसपी सचीन्द्र पटेल

उन्होने अधिकारियो को यह भी निर्देश दिया है कि प्रमुख स्नान पर्वो पर अधिकारी अपने-अपने दायित्वों को विशेष रूप से सतर्कता क्रियान्वयन कराने में अहम भूमिका निभाये। यह भी कहे कि जिन-जिन विभागो के अधिकारियो-कर्मचारियो के द्वारा लापरवाही व शिथिलता बरतती पाई गयी तो उनके कार्यशैली को गम्भीरता से लेते हुए कठोर कार्यवाही की जायेगी। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक सचीन्द्र पटेल, अपर जिलाधिकारी, एसडीएम आशीष कुमार, जिला विकास अधिकारी जयकेश त्रिपाठी, पुलिस क्षेत्राधिकारी रामकरन समेंत अन्य विभागो के अधिकारी  उपिस्थत रहे।