उत्तर प्रदेश दिवस

भदोही। उत्तर प्रदेश एक भौगोलिक इकाई ही नही, संस्कृतियों का संगम भी है और गंगा-जमुनी संस्कृति का एक अनूठा प्रतीक है, इसलिए यह एक विशिष्ट जीवन शैली, व्यवहार, चिन्तन परम्परा, एैतिहासिकता, सहिष्णुता, सार्थक सकारात्मक प्रतिद्वन्द्धिता, विचार-विनियम व मनुष्य के हक की लड़ाई का केन्द्र भी है। विविधिता में  एकता का व्यवहारिक स्वरूप यहॉ की पहचान है। उत्तर प्रदेश का इतिहास वास्तव में राष्ट्रीय एकीकरण और शान्तिपूर्ण सह अस्तित्व का इतिहास है। यहॉ बौद्ध जैन, इस्लाम, सिक्ख एवं सनातन सभी धर्मो के अनुयायी एक साथ रहे और एक दूसरे के सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक व धार्मिक जीवन को प्रभावित, समृद्ध करते रहे। 

सांस्कृतिक कार्यक्रम

विभूति नारायण राजकीय इण्टर कालेज के मैदान में द्वीप प्रज्जवलन कर शुभारम्भ के पश्चात् यह विचार BJP किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने  उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस पर आयोजित समारोह में रखी। इस अवसर पर ज्ञानपुर विधानसभा में 36, विधानसभा औराई में 21, विधानसभा भदोही में 19, कुल 76 परियोजनाये, जिसमें 34 लोकापर्ण कुल 58 करोड़ 61 लाख तथा 42 शिलान्यास कुल 6 करोड़ 42 लाख किया गया। इस अवसर पर सांसद ने तीन शहीद परिवारो के स्मृति चिन्ह एवं साल देकर सम्मानित किया।  रामेश्वर सिंह, प्रपौत्र शहीद झूरी सिंह, आजादी के प्रथम क्रान्ति के महानायक, परऊपुर,  उषा देवी पत्नी शहीद नाविक रमाशंकर निवासी ग्राम माधोपुर, पोस्ट परसीपुर तहसील भदोही, शहीद स्व0 शुलभ उपाध्याय, बैराखास तहसील ज्ञानपुर, को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर समारोह में संत विवेकानन्द उच्चतर विद्यालय गेराई गोपीगंज के छात्राओं ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं कार्यक्रम नाट्य मंच की झांकी प्रस्तुत किया, साथ ही सर्वोदय इका0 के छात्राओं द्वारा शिव तांडव किया गया जो सराहनी था। कार्यक्रम में सांसद वीरेन्द्र सिंह  ने कजरी लोकगीत के रचईता आदित्य मिश्र की पुस्तिका का विमोचन भी किया है। उत्तर प्रदेश दिवस कार्यक्रम समारोह के मुख्य अतिथि सांसद वीरेन्द्र सिंह ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के नागरिक जहॉ भी होगे स्थापना दिवस मना रहे होगे। वर्तमान में केन्द्र सरकार और प्रदेश सरकार अपने किये हुए वादो के अनुसार एक-एक कार्यो को पूर्णकर पात्र गरीब, नौजवान, छात्र, व्यापारी, किसानो को लाभान्वित करा रही है। उन्होने कहा कि हम सब को गर्व होना चाहिए, कि प्रदेश में भदोही कालीन नगरीय का अपना योगदान है, यह भी कहे कि आजादी के पूर्व से ही भदोही में कालीन उद्योग का कार्य होता आ रहा है। सांसद ने कहा कि जल संरक्षण के मामले में भदोही के मोरवा नदी से खुदाई का कार्यक्रम प्रारम्भ किया गया जो अपने आप में एक बेमिशाल है। सांसद ने कहा लोकतंत्र में शासन, प्रसाशन, समाज के लोग मिलकर विकास कार्यो को एक नया आयाम दे, यह भी कहे कि लोकतंत्र में जनप्रतिनिधियों की जनता के प्रति जबाब देही होती है। लोकतंत्र में जनता की ताकत सर्वोपरी है।

आयोजन

इस अवसर पर जिलाधिकारी विशाख जी ने कहा कि जनपद के विकास में जनप्रतिनिधियो की सहमति और भागीदारी के साथ सर्वागीण विकास किया जायेगा। कहा कि विकास कार्य में जो भी अधिकारी और कर्मचारी की कार्यशैली खराब पायी जायेगी, उसे गम्भीरता से लेते हुए कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा कि जनपद के विकास कार्य में जनप्रतिनिधियों के सुझाव के साथ ही उनके द्वारा उठाये गये विभिन्न विभागों के समस्याओं का जबाब शीघ्र दिया जायोगा जो दोषी होगे, उनके विरूद्ध कार्यवाही होगी। जिलाधिकारी ने कहा कि भदोही आवेर ब्रीज को अतिशीघ्र जनता के आवागमन के लिए प्रारम्भ किया जायेगा। कहा कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर 30 मॉडल स्कूलो का निर्माण हो चुका है, जिसका प्रस्तुति करण किया जायेगा। साथ ही जनपद के कस्तुरबा गॉधी बालिका विद्यालयों में मूल-भूत सुविधाओं को मुहैया कराया जा रहा है। इस मौके पर जिलाधिकारी विशाख जी, पुलिस अधीक्षक सचीन्द्र पटेल, विधायक भदोही रवीन्द्र नाथ त्रिपाठी, विधायक औराई दीनानाथ भाष्कर, जिला पंचायत अध्यक्ष काजल यादव, जिला अध्यक्ष हौसिला प्रसाद पाठक, सांसद प्रतिनिधि शैलेन्द्र दुबे ने भी अपने विचार रखे। यहां, भाजपा नेता सुनील मिश्र, प्रदीप सिंह समेत तमाम चेहरे मौजूद रहे।
शुभारंभ

इस अवसर पर सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग से एलईडी वैन द्वारा लखनऊ से सीधा प्रसारण लाईव टेलीकास्ट किया जा रहा था। सूचना विभाग के कलाकारो द्वारा सांस्कृतिक मंच पर विकास गीत प्रस्तुत कर लोगो के मनमुग्द कर दिया, संरगम दीप बहार ग्रुप लोक गायक धनश्याम शुक्ला सरगम द्वारा उ0प्र0 दिवस भारत का श्रेण अंग उत्तर प्रदेश है। सांसद प्रतिनिधि शैलेन्द्र दूबे, नागेन्द्र सिंह, मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर सिंह के आलाव, अन्य विभागों के अधिकारीगण एवं जनपद के समस्त विकास खण्डो से आये हुए विभिन्न लाभार्थीपरक योजनाओं से सम्बन्धित लाभार्थीं, किसान, प्रधान भी उपस्थित थे।