कारपेट फेयर पर विशेष रिपोर्ट-ओबैदुल्लाह अंसारी

शुभारंभ

भदोही। नई दिल्ली के ओखला एनएसआईसी प्रदर्शनी मैदान में गुरुवार से चार दिवसीय इंडिया कारपेट एक्सपो-2018 के 35वें संस्करण का शुभारंभ हुआ। मेले का उदघाटन केंद्रीय वस्त्र राज्य मंत्री अजय टमटा ने दीप प्रज्जवलित करके किया।
एक झलक

मेले में 60 देशों के चार सौ आयातकों ने स्टाल पर पहुंच कर कालीनों को देखा। केंद्रीय वस्त्र राज्य मंत्री अजय टमटा ने कहा कि सरकार हस्त निर्मित कालीनों को बढ़ावा देने के लिए कृत संकल्पित है।
बंधी उम्मीदें

उन्होंने सीईपीसी पदाधिकारियों के साथ ही कालीन निर्यातकों से वार्ता के बाद उद्योग की बेहतरी में हर संभव मदद करने का वादा किया। कहा कि हाथों से बुनने वाले कालीन को विरासत के तौर पर सहेजने का काम किया जाएगा। मंत्री ने विकास आयुक्त हस्तशिल्प शांतामनु के साथ वार्ता करके चीन में निर्यात को बढ़ावा देने पर बल देने की बात कही।
कालीन का अवलोकन

सीईपीसी के चेयरमैन महावीर प्रसाद उर्फ राजा शर्मा ने बताया कि चार दिवसीय कालीन मेले में 60 देशों के चार सौ से अधिक बॉयर भाग ले रहे हैं। इस दौरान कालीन निर्यातक उमेश कुमार गुप्ता मुन्ना ने दावा किया मंदी से जूझ रहे उद्योग का मेला संजीवनी देने का काम करेगा। मेले में पूरे देश के विभिन्न भागों से आए निर्यातकों द्वारा 260 स्टाल लगाए गए हैं। जिस पर पहले दिन भारी तादात में पहुंचे बॉयरों ने कालीनों की गुणवत्ता को देखा। इस मौके पर परिषद के उपाध्यक्ष सिद्धनाथ सिंह, अधिशासी निदेशक संजय कुमार, उमेश कुमार गुप्ता मुन्ना, आदि रहे।