सूरत/लखनऊ। BNNtv.। सरयू का तट कारसेवकों की मौजूदगी से जब अंगड़ाई ले रहा था और समूची अयोध्या में भगवान श्रीराम के वनवास से वापसी की बेला जैसी घड़ी में जब हर तरफ राम राम हो रहा था तो सांवर मती के संत की धरती के फिजां में जय परशुराम गूंज रहा था। एक साथ राम और परशुराम के जयकारे लगने का भले ही दो अलग कारण रहे हों, लेकिन दोनों स्थानों पर गूंज राम राम की ही हो रही थी।

इसलिए थी खास, यह शाम

जी हां, यह शाम हर मायने से खास थी। गुजरात के सूरत शहर में भदोही के ज्ञानपुर विधानसभा से विधायक विजय मिश्रा का उत्तर भारतीय समाज जब गर्मजोशी से अभिनंदन कर रहा था तो उस वक्त फिजां में जय परशुराम की गूंज बढ़ गयी थी। दूसरी तरफ अयोध्या में धर्म संसद के बाद जय श्रीराम की गूंज से समूची अयोध्या ही राम मय थी।

विजय मिश्रा

माहौल ऐसा कि…तुम्ही मेरे मंदिर….

सूरत में उत्तर भारतीय समाज विजय मिश्रा का अभिनंदन समारोह के दौरान जहां विकास का गुणगान कर रहा था, वही उत्तर भारतीय समाज के लोग विधायक की जमकर सराहना कर रहे थे। विधायक ने भी उत्तर भारतीय समाज के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि ज्ञानपुर विधानसभा क्षेत्र के मान सम्मान और स्वाभिमान के लिए वह समर्पित हैं।

यह बने इस यादगार पल के साक्षी

शिवमणि मिश्र, महेश शुक्ला, हवलदार दूबे, श्याम कमल पांडेय, प्रकाश शुक्ला, विश्वास मिश्रा, राकेश मिश्रा, संजय मिश्र, गोपाल तिवारी, ओंकारनाथ मिश्रा, प्रकाश मिश्रा,
मनोज पांडेय, बब्बू मिश्रा, प्रकाश मिश्रा, राज कुमार शुक्ला, करण विंदर दुबे, दीपक शुक्ला आदि लोग उपस्थित रहे।