भदोही। भदोही जिले में शनिवार को हुए भीषण विस्फोट मामले में रविवार को मुख्य आरोपी कलियर मंसूर और उसके मृत दो बेटों पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। विस्फोट का मुख्य आरोपी कालियर फरार है। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए टीम गठित किया है। उधर पता चला है कि इसकी जांच के लिए एसआईटी भी गठित की गई है, हालांकि जिला अधिकारी राजेंद्र प्रसाद ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं।

भदोही के चौरी में वारणसी – भदोही मुख्य मार्ग पर शनिवार को दो मंजिला मकान में विस्फोट मामले में मकान मालिक कलियर मंसूर व दो बेटों के ऊपर आईपीसी की धारा 304/4/5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। एसपी भदोही के अनुसार कुल 12 लोगों की मौत हुई है। जिसमें मकान मालिक कालियर मंसूरी के दो बेटे इरफान मंसूरी (40) और आदिब उर्फ बब्बल (25) शामिल हैं। एक शालिमशाह भी मरा है।

विस्फोट बेहद तगड़ा था, मलवा पूरे वाराणसी भदोही मार्ग पर बिखर गया। एनडीआरएफ की टीम ने किसी तरह राहत और बचाव के दौरान उन्हें इकट्ठा किया। घटना के दूसरे दिन भी एनडीआरएफ की टीम बचाव एवं राहत में जुटी रही अब भी टीम वहां मलबे को हटा रही है। 200 मीटर के आसपास पूरा मलबा बिखरा हुआ था। जिसकी वजह से वाराणसी- भदोही मुख्य मार्ग को पुलिस को आवागमन के लिए रोकना पड़ा था।