भदोही। भदोही जिले के चौरी में शनिवार को हुए भीषण विस्फोट में रविवार को केंद्रीय जाँच टीम यानी (आईबी) को तीन मोबाइल फोन मिलें है। हालांकि प्रशासनिक स्तर पर इसकी पुष्टि नहीँ हुई है। इसके अलावा वहां से मानव अंग भी बिखरे मिले हैं। जगह-जगह एनडीआरएफ की टीम ने टुकड़ों में विभाजित मानव अंगों को बरामद किया है। हालांकि इस पूरे प्रकरण में भदोही पुलिस की लापरवाही सामने आयीं है।

मलवा

भदोही जिले के चौरी में वाराणसी- भदोही मार्ग पर रोटहां में शनिवार को एक कालीन कारखाने में हुए विस्फोट के मामले में रविवार को भी एनडीआरएफ की तरफ से बचाव कर चलता रहा। मौके पर वहां बम निरोधक दस्ता और बीएसएफ की फौज को तैनात किया गया है। दावा किया गया है कि घटनास्थल से जांच-पड़ताल के दौरान आईबी केंद्रीय जांच टीम को तीन मोबाइल बरामद हुए हैं। जिन पर लगातार घंटियां आ रही थी। हालांकि अभी कहना मुश्किल है क्योंकि मोबाइल मजदूरों के भी हो सकते हैं। हालांकि जाँच में मोबाइल अहम सुराग साबित हो सकता है। कल यह भी पता चला था कि वहां हैंडग्रेनेड में इस्तेमाल होने वाले कुछ ऐसे सामान भी बरामद हुए हैं, हालांकि भदोही पुलिस अधीक्षक राजेश एस ने ऐसी किसी बात से इंकार किया था। जिला प्रशासन भी सामान विस्फोटक की बात कहता रहा। वाराणसी परिक्षेत्र एडीजी पी रामा राव ने कहा था कि जांच के बाद ही स्थित साफ होगी। लेकिन विस्फोट इतना तगड़ा है कि उससे साफ जाहिर हो रहा है यह पटाखे का विस्फोट नहीं हो सकता। इसके पीछे कोई बड़ी साजिश हो सकती है। फिलहाल पुलिस जांच के बाद भी स्माथित साफ होगा कि इसके पीछे कौन लोग थे। लेकिन घटना स्थल से बरामद मोबाइल अहम हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here