भदोही। जिस चौकीदार की चर्चा आज हर जनमानस की जुबां पर है, ज्ञानपुर का वह चौकीदार जगदम्बा दरबार में अपनी जनता और क्षेत्र की खुशहाली के लिए महायज्ञ कर रहा है। यहां चारों नवरात्र में यज्ञ और महाप्रसाद की कायम परम्परा काशी प्रयाग की इस संगम स्थली का पहचान बन चुका है। साथ ही जगदम्बा की शक्ति और भक्ति का भी यहां अनूठा संगम देखने को मिलता है।

जी हां, हम बात कर रहे हैं आज की तारीख में पूर्वांचल की सर्वाधिक चर्चित सियासी हस्ती , लेकिन अपने विधानसभा क्षेत्र ज्ञानपुर की जनता के चौकीदार विजय मिश्र की, जो दो गुप्त और दो प्रत्यक्ष नवरात्र में मातारानी का विधिवत विद्धतजनों से यज्ञ, मंत्र से आह्वान कर क्षेत्र की जनता की खुशहाली और विकास की कामना करते रहें हैं। एक बार फिर वही विजय यज्ञ विधायक निवास धनापुर में चल रहा है। विधायक विजय मिश्रा और उनकी पत्नी रामलली मिश्रा एमएलसी ने जगदंबा दरबार में
यज्ञ कर काशी-प्रयाग और विन्ध्य की संगमस्थली की जनता की खुशहाली और क्षेत्र के प्रगति की मंगलकामना भी की।

याद रहे, वह यही दौर था जगदंबा दरबार का, जब अपने दल की जीत की गाथा लिखने पर पूर्व सीएम मायावती के सामने हार की चुनौती पेश कर नेताजी मुलायम सिंह यादव के साथ उड़न खटोले में उड़ने वाले विजय मिश्रा ने पूर्व सीएम अखिलेश यादव के समक्ष भी चुनौती पेश की और परिणाम तो विजय के साथ ही सामने आया । आज मायावती – अखिलेश यादव साथ हैं तो भी पूर्वांचल में विधायक विजय मिश्रा की सियासी पैठ और वोटरों पर बेहतर पकड़ पहले से काफी अधिक बढ़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here