भदोही। भदोही लोकसभा क्षेत्र से निर्दल प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरे वीरेन्द्र चौबे ने कहा है कि आज की राजनीति में धन बल का प्रभाव काफी अधिक बढ़ गया है। सभी दलों को जिताऊ प्रत्याशी की ही दरकार होती है। जमीनी कार्यकर्ताओं से किसी भी दल का कोई सरोकार नहीं होता है। विश्व विख्यात कालीन नगरी आज विकास से उपेक्षित है और यहां के युवाओं को रोजगार नसीब नहीं हो पा रहा है।

भदोही जिले के सेऊर गांव निवासी वीरेन्द्र चौबे ज्ञानपुर में मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होने कहा कि भदोही जिले में तमाम समस्याएं विद्यमान है और यहां के शिक्षित युवाओं को रोजगार नसीब नहीं हो पा रहा है। दलों में राजनीति के नाम पर पैसों का खेल चल रहा है।

मेरा प्रयास होगा कि लोगों को इस दिशा में जागरूक कर राजनीति की दिशा और लोकसभा क्षेत्र के दशा को बदला जाए, जिससे क्षेत्र का विकास संभव हो सके। उन्होने किसी दल का नाम लिए बगैर कहा कि जनता इस परिवर्तन की लड़ाई में उनके साथ है। इस दौरान वीरेन्द्र दूबे, मनोज दूबे, जगदीश पांडेय, राजेश श्रीवास्तव, विनय, उमाशंकर यादव आदि कई लोग मौजूद रहे।