मानसिक बीमारी से निजात दिलाएगा यह केयर सेन्टर

पूजन करते डा.बृजभान बिन्द

भदोही। खुदकुशी की घटनाओं में क्या कमी आ सकती है। इसका उत्तर है जी हां। लेकिन कैसे का जवाब यह है कि यह जिस भयानक बीमारी से शुरू होती है उसके जड़ का नाम है अवसाद और यही अवसाद जीवन को धीरे धीरे खुदकुशी की ओर ले जाता है। इसके कई ऐसे कारण आज के हालात और परिवेश से इंसानी जिन्दगी में उपजे है जिसका समय से इलाज खुदकुशी जैसे घातक कदम को रोक सकता है। यह कहना है बीएचयू से एमबीबीएस, एमडी व आईएम एस डा. बृजभान बिन्द का।
मीडिया से बात

वह सूफीनगर जंगीगंज स्थित रामदेव पीजी कालेज के सामने मृत्युंजय न्यूरोसाइकेट्रिक केयर सेंटर का शुभारंभ के दौरान मीडिया से बात कर रहे थे। यहां, आज से न्यूरो एवं मानसिक रोग विशेषज्ञ डा.बृजभान बिन्द ने सेवा देनी शुरू कर दी है। वह बीएचयू एमबीबीएस, एमडी, आईएमएस बीएचयू से हैं। न्यूरो एवं मानसिक रोग विशेषज्ञ डा.बृजभान बिन्द सप्ताह में तीन दिन सोमवार, बुधवार एवं शुक्रवार को मरीजों को अपनी सेवा देंगे। इस सेंटर का शुभारंभ हो गया। इस दौरान वैदिक मंत्रोच्चार के बीच डा.बृजभान बिन्द ने सपत्नीक गणेश पूजन किया।
शुभारंभ

इस दौरान राजेश परदेशी, राम शेखर सिंह श्रीकांत यादव, बीके साहनी, सेवालाल यदुवंशी, रमाशंकर बिंद बैरागी बिन्द, डा.एसडी यादव एसपी यादव , डॉ रमेश रमाशंकर , डॉक्टर जे एस बिन्द, डॉक्टर आरके बिन्द, सुनील पप्पू यादव समेत अन्य थे।