भाई की हत्या में भाई को ही आरोपी बना रही पुलिस, एसपी कार्यालय पहुंचे परिजन


भदोही । ज्ञानपुर कोतवाली क्षेत्र के बैरा गांव में हुई एक किशोर की हत्या के मामले में पुलिस ने परिवार के सदस्यों को ही उठाया है। चार दिनों से कई सदस्यों को उठाने के बाद पुलिस ने मृतक के भाई को ही आरोपित बना दिया। एसपी कार्यालय पत्रक देने पहुंचे परिजनों का आरोप है कि पुलिस उनके साथ ज्यादती कर रही है। उन्हें न्याय चाहिए। दूसरी तरफ यदुवंशी महासंघ के राष्ट्रीय सचिव सेवालाल यदुवंशी ने कहा हैं कि इस सरकार में न्याय नहीं हो रहा है। यदि बैरा मामले में पुलिस ने मनमानी बंद नहीं की तो धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

बैरा गांव निवासी मूलचंद उर्फ मुन्ना यादव के पंद्रह वर्षीय पुत्र मोहित का पिछले दिनों शव मिला था। उसकी उबूझ मौत के पीछे हत्या की बात सामने आती थी। इस मामले में पुलिस ने परिजनों के साथ कई अन्य लोगों को उठाया था। चार दिनों तक कोतवाली में पूछताछ के बाद अन्य लोगों को छोड़ दिया गया, जबकि पुलिस मृतक के भाई को हिरासत में रख कर पुलिस उसे ही हत्यारोपित बनाने पर तुली है। परिजनों ने पुलिस पर मनमानी का आरोप लगाया। मृतक के पिता और भाई का आरोप है कि पुलिस पूरे परिवार का उत्पीड़न कर रही है। दूसरी तरफ परिजनों के साथ एसपी कार्यालय पहुंचे मुन्ना यादव के मामले में यदुवंशी महासंघ के राष्ट्रीय सचिव सेवालाल यदुवंशी ने कहा है कि पीड़ित परिवार को न्याय की बजाय पुलिस ने परिजनों का उत्पीड़न कर रही। यदि उत्पीड़न बंद नहीं किया गया और वास्तविक अपराधी नहीं पकड़े गये तो धरना प्रदर्शन किया जाएगा।